लेह पहुँच कर जवानो के बीच गरजे PM मोदी – वीरता ही शांति की पूर्व शर्त

LAC पर तनाव के बीच अचानक पहुँचे नरेंद्र मोदी ने लेह यात्रा में 1 तीर से अनेको निशाने साधे।मोदी ने ज़ोरों शोरों से जवानो का मनोबल बढ़ाकर चीनी को दिया संकेत।
चीन के विस्तारवादी सोच से लेकर युद्धभूमि में बुद्ध संदेश तक… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवानों से हर मुद्दे पर बात की। उन्होंने कहा कि देश के वीर सपूतों ने गलवान घाटी में जो अदम्य साहस दिखाया, वो पराक्रम की पराकाष्ठा है। देश को आप पर गर्व है, आप पर नाज है। पीएम मोदी के भाषण के कई शब्दों की गूंज बीजिंग तक गई हो।

जवानो की वीरता को किया नमन
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि 14 कोर की जांबाजी के किस्से हर तरफ है। दुनिया ने आपका अदम्य साहस देखा है। आपकी शौर्य गाथाएं घर-घर में गूंज रही है। भारत के दुश्मनों ने आपकी फायर भी देखी है और आपकी फ्यूरी भी आज हर देशवासी का सिर आपके यानी अपने देश के वीर सैनिकों के सामने आदरपूर्वक नतमस्तक होकर नमन कर रहा है।

जवानों को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि विश्व ने हमारे देश के जवानों के पराक्रम को देखा है और विश्व शांति के लिए उनके प्रयासों को महसूस भी किया है। हमारे यहां कहा जाता है, वीर भोग्य वसुंधरा। यानी वीर अपने शस्त्र की ताकत से ही मातृभूमि की रक्षा करते हैं। ये धरती वीर भोग्या है। इसकी रक्षा-सुरक्षा को हमारा सामर्थ्य और संकल्प हिमालय जैसा ऊंचा है।

भारतीय सेना के जवानों को संबोधित करते हुए व चीन को संकेत देते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि विस्तारवाद का युग खत्म हो चुका है। अब विकासवाद का समय आ गया है। तेजी से बदलते हुए समय में विकासवाद ही प्रासंगिक है। विकासवाद के लिए अवसर है और विकासवाद ही भविष्य का आधार है।

बोर्डर पुल का कार्य होगा और अधिक रफ़्तार से
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आपके सम्मान, आपके परिवार के सम्मान और भारत माता की सुरक्षा को देश सर्वोच्च प्राथमिकता देता है। सेनाओं के लिए जरूरी हथियार हो या फिर आपके लिए साजो-समान। इन सब पर हम बहुत ध्यान देते रहे हैं। अब देश में बॉर्डर इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च को तीन गुना कर दिया गया है।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बॉर्डर एरिया डेवलपमेंट और सड़कें, पुल बनाने का बहुत तेजी से हुआ है। इसका लाभ यह हुआ है कि अब आप तक सामान कम समय में पहुंचता है।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आपके सपनों का भारत बनाने के हमारी कोशिश जारी है और हम पीछे नहीं हटेंगे। हम एक सशक्त और आत्मनिर्भर भारत बनाएंगे और बनाकर ही रहेंगे। जवानों से जब प्रेरण मिलती है तो आत्मनिर्भर भारत का संकल्प और भी ताकतवर हो जाता है।

Leave a Comment