- Uncategorised

शराबियों के लिए अच्छी खबर, अब नहीं तरसना होगा एक-एक बूंद के लिए !

लखनऊ. पिछले एक महीने से लॉकडाउन है, उम्मीद है कि तीन मई को लॉकडाउन 2.0 खुल जाए। इस लॉकडाउन में एक—एक बूंद के लिए तरस गए शराब और बीयर के शौकीन पियक्कड़ों के लिए खुशखबर है। लॉकडाउन (Lockdown) खुलते ही औने पौने दाम में पौवा बिकेगा। आबकारी विभाग (Excise Department) ने सभी लाइसेंसधारियों को निर्देश जारी किए हैं कि जैसे ही लॉकडाउन खुलता है प्रदेश में शराब और बीयर की बिक्री शुरू हो जाएगी। दुकानों में रखा स्‍टॉक एक सप्‍ताह में खत्‍म करना होगा। इस वक्त दुकानों में जमकर स्‍टॉक रखा हुआ है। और दुकानदारों को किसी भी हालत में इस स्‍टॉक को खत्‍म करना है चाहे इसे औने पौने दाम पर ही क्यों न बेचना हो। और अगर नहीं बेच पाए तो बचे स्टॉक को नष्ट करना पड़ेगा।

प्रदेश में देसी शराब की कुल 12467 दुकानें हैं और इनमें लगभग 736830 पेटी देसी शराब का स्टाक बचा हुआ है। जिसका अनुमानित मूल्य लगभग 215.20 करोड़ रुपए है। देसी शराब के थोक विक्रेताओं के यहां करीब 249954 पेटी देसी शराब का स्टाक बचा हुआ है, जिसका अनुमानित मूल्य लगभग 215 करोड़ रुपए है। अंग्रेजी शराब और बीयर की फुटकर दुकानों और मॉडल शाप पर लगभग 960036 पेटी अंग्रेजी शराब और बीयर का स्टाक बचा है। इनमें वो सभी दुकानें शामिल हैं, जिनके लाइसेंस का नवीनीकरण हो गया है और नहीं हुआ है।

उत्तर प्रदेश के पियक्कड़ों ने जब से यह खबर सुनी है कि लॉकडाउन 2.0 (Lockdown 2.0) खुलने के बाद शराब और बीयर पीने को मिलेगी, और वह भी सस्ती, तब से उनकी खुशी छुपाए नहीं छुपती है। प्रमुख सचिव आबकारी संजय आर भूसरेड्डी के इस संबंध में जारी शासनादेश के मुताबिक लॉकडाउन की वजह से देशी-विदेशी शराब व बीयर (Liquor and Beer) की बिक्री प्रभावित हुई है। जिससे दुकानदारों को तमाम दिक्कतों को सामना करना पड़ा है।

एक सप्ताह का मौका

इस समस्या पर गौर करते हुए प्रदेश सरकार ने देशी-विदेशी शराब व बीयर के कारोबारियों (लाइसेंसधारी) को राहत देते हुए लॉकडाउन के बाद एक सप्ताह का मौका दिया है कि ये सभी दुकानदार अपना स्टॉक खत्म कर लें। चूंकि शेष स्टाक को बेचने के लिए मौजूदा लाइसेंसी को सप्ताहभर की ही मोहलत दी जा रही है, इसलिए यह माना जा रहा है कि लाइसेंसी अपना स्टॉक खत्म करने के लिए शराब व बीयर के दामों में भारी कमी करेंगे, जिससे उनका मॉल बिका जाए। नहीं तो बचा स्टॉक नष्ट कर देना पड़ेगा। पर इस सुविधा से पियक्कड़ों की बल्ले बल्ले हो गई है। अब वो उस दिन का इंतजार कर रहे हैं कि जब लॉकडाउन 2.0 खत्म हो और उनके हाथ प्याला आ जाए।

पूरे स्टाक की घोषणा

शासनादेश में एक निर्देश बेहद सख्ती के साथ दिया गया है कि लॉकडाउन 2.0 खुलने के 24 घंटे के भीतर थोक और फुटकर विक्रेताओं को अपने पूरे स्टाक की घोषणा करनी होगी। बार व क्लब के संचालकों को स्टाक खपाने के लिए लाकडाउन खुलने से एक पखवारे की अवधि की अनुमति दी गई है।

यूपी की आबकारी नीति

उत्तर प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए आबकारी नीति (Excise Policy) घोषित की थी। इस दौरान देसी शराब की दुकान की बेसिक लाइसेंस फीस पिछले वर्ष के मुकाबले 10 प्रतिशत, अंग्रेजी शराब की दुकान की बेसिक लाइसेंस फीस में भी 20 प्रतिशत और बीयर की दुकान की लाइसेंस फीस में 15 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी का फैसला किया गया था।

About Shandya Rajput

Read All Posts By Shandya Rajput

Leave a Reply