Jotyirajesindia
- Latest News

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इन पांच कारणों की वजह से छोड़ी कांग्रेस पार्टी, आप भी जानिए

मध्य प्रदेश के ग्वालियर घराने में जन्मे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह दिया है। इसके कारण मध्य प्रदेश की राजनीति में होली के दिन बड़ा उलटफेर देखने को मिला पूरे देश में जहां होली का पर्व मनाया जा रहा था वही मध्य प्रदेश की राजनीति में सियासी उठापटक देखने को मिल रही थी। बता दे कि मध्य प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री माधवराव सिंधिया के पुत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देकर गांधी परिवार के साथ अपने संबंधों को एक विराम दे दिया है। त्यागपत्र में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लिखा है कि पिछले वर्ष से ही यह रास्ता जय हो रहा था सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर ऐसा क्यों हो गया जो ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस पार्टी छोड़नी पड़ी है। चलिए आपको बताते हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस पार्टी से अलग होने की यह पांच सबसे बड़ी वजह।

  1. मध्यप्रदेश में अपनी पार्टी की सरकार होने के बावजूद भी ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक विधायकों में सरकार के खिलाफ रोष बढ़ता ही जा रहा था, कमलनाथ का नेतृत्व वे बर्दाश्त कर पा रहे थे।
  2. सबसे बड़ी बात यह है कि मध्य प्रदेश में चुनाव जीतने के बाद मुख्यमंत्री के रेस में ज्योतिरादित्य सिंधिया को पहली पसंद माना जा रहा था लेकिन किसी कारणवश कमलनाथ को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया, जिसके कारण सिंधिया ने कांगरे पार्टी छोड़ने का मन पहले ही बना लिया।
  3. प्रदेश में कमलनाथ सरकार बनने के बाद से प्रदेश सरकार और प्रदेश संगठन में मुख्यमंत्री कमलनाथ का रुतबा काफी बढ़ गया था, जिसके कारण ज्योतिरादित्य का रुतबा काफी कम हो गया था।
  4. जब राहुल गांधी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष हुआ करते थे तब ज्योतिरादित्य सिंधिया का रुतबा पार्टी में कमलनाथ से काफी ऊपर होता था। दोनों की काफी अच्छी दोस्ती भी हुआ करती थी लेकिन कांग्रेस पार्टी में राहुल का नेतृत्व कम होते ही ज्योतिरादित्य सिंधिया का भी रूतबा कम होने लगा।
  5. मुख्यमंत्री बनने के बाद कमलनाथ ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के असंतोष को संभालने की कभी भी कोशिश नहीं की और यह दरार बढ़ती ही चली गई।

About Shandya Rajput

Read All Posts By Shandya Rajput

Leave a Reply